Recent updates:
दो सालों में चंडीगढ़ बनेगा मॉडल सोलर सिटी, हर बिल्डिंग पर होंगे सोलर प्लांट

दो सालों में चंडीगढ़ बनेगा मॉडल सोलर सिटी, हर बिल्डिंग पर होंगे सोलर प्लांट

दो सालों में चंडीगढ़ बनेगा मॉडल सोलर सिटी, हर बिल्डिंग पर होंगे सोलर प्लांट

अगले दो वर्षों में चंडीगढ़ की हर बिल्डिंग में सोलर प्लांट होगा। दरअसल चंडीगढ़ को मॉडल सोलर सिटी बनाने के लिए प्रशासन ने सभी बिल्डिंग में सोलर ‌फोटोवोल्टिक पावर प्लांट लगाने के लिए बिल्डिंग बायलॉज में बदलाव को अप्रूवल देने को लेकर नोटिफिकेशन जारी कर दी है। आगे पढ़ें कैसे बनेगा चंडीगढ़ सोलर सिटी…
इन बिल्डिंग बायलॉज के लागू होते ही चंडीगढ़ को मॉडल सोलर सिटी बनाने की तरफ तेजी से काम पूरा किया जा सकेगा। इसके अलावा प्रशासन ने सोलर प्रमोशन के लिए क्रेस्ट
का एनुअल बजट भी 11.30 करोड़ रुपए से बढ़ाकर 41 करोड़ रुपए कर दिया है। पुराने घरों में भी दो साल में लगाना होगा प्लांट…
नई कंस्ट्रक्शन में तो शुरु से ही सोलर फोटोवोल्टिक पावर प्लांट लगाना जरूरी होगा ही साथ ही पुराने मकानों में भी कैटेगरी वाइज प्लांट लगाना होगा।
-इसके लिए थोड़ी छूट ये दी गई है कि इन संशोधित बिल्डिंग बायलॉज की नोटिफिकेशन होने के 2 साल तक पहले से बने घरों में रहने वाले लोग सोलर फोटोवोल्टिक प्लांट लगवा सकते हैं। Read More….

दो सालों में चंडीगढ़ बनेगा मॉडल सोलर सिटी, हर बिल्डिंग पर होंगे सोलर प्लांट